My Hindi Forum

Go Back   My Hindi Forum > Hindi Forum > Blogs

Reply
 
Thread Tools Display Modes
Old 16-06-2016, 06:09 PM   #1
Shikha sanghvi
Senior Member
 
Shikha sanghvi's Avatar
 
Join Date: Jan 2015
Posts: 289
Thanks: 214
Thanked 239 Times in 171 Posts
Rep Power: 15
Shikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud of
Wink Dahej Pratha / दहेज-प्रथा

Dahej Pratha / दहेज-प्रथा

आये दिन आज भी दहेज़ प्रथा के किस्से अखबारों के ज़रिये पढ़े व सुने जाते हैं जिसमे दहेज़ के कारण आज भी कई लड़कियों को ज़िंदा जलाया जाता है, उसे बहुत टार्चर किया जाता है, उनका जीना मुहाल कर दिया जाता है और ये सब मेरी बरदाश्त से बाहर है., बहुत गुस्सा आता है मुझे. आखिर लड़कियों को भी जीने का उतना ही अधिकार है जितना कि लड़को को. तो फिर क्यों उन्हें शांति और सुकून से नहीं जीने नहीं दिया जाता. मै भी एक लड़की हूँ और मै भी इन हालातो से गुजर चुकी हूँ पर उस वक़्त मुझमे इतनी हिम्मत नहीं थी कि समाज के सामने लड़ सकूँ लेकिन आज कलम के ज़रिये मै एक लड़की की हालत को सबके दिलो तक पहुँचाना चाहती हूँ. ये दहेज प्रथा तो उन लालची इंसानों ने उत्पन्न की है जो पैसे के लिये लड़की के माता पिता का शोषण करते हैं जिसके कारण कितनी ही लड़कियां अपने जीवन से हाथ धो बैठती है

मेरे मित्रो, ध्यान रहे मै समाज के बने नीति-नियमो की बात नहीं कर रही. सचतो ये है कि दहेज-प्रथा, खास करके अमीर लोग, को बढ़ावा देते हैं. वे अपनी बेटीको आशीर्वाद के नाम पे ढेर सारी धन-संपत्ति व कीमती सामग्री देते है.पर वे ये नहीं जानते कीइसके कारण समाज का माहौल खराब होता है. सीमित आय वाले लोग भी दहेज के दुष्चक्र के शिकार हो जाते हैं. इस सबके परिणाम स्वरूप कितनी लड़कियों की जान जा रही है.अभी कुछ महीने पहले की ही धटनाहै. माता-पिता ने एक बेटी की बहुत धूमधाम से शादी की. वो अपने ससुराल गयी. कितनेअरमान, कितने सपने सजाए होंगेउस दुल्हन ने पर वो ख़ुशी ज्यादा देर तक नहीं टिकी. ससुरालमें कदम रखते ही ससुराल वालो ने कुछ और चीज़ो की मांग की. पर उस लड़की नेअपने माता-पिता को कुछ नहीं बताया और एक ही वीक में उसके जीवन का करूण अंतहुआ. जी हा, उसके ससुराल वालोंने उसे एक रात ज़िंदा जला दिया और इस प्रकार उस लड़की कीकहानी का दुखद अंत हो गया.

कहा जाकर रुकेगी ये दहेज-प्रथा की भयानक तस्वीरें. बसकरो अब बहुत हुआ हुआ . इसके लिये समाज के सभी वर्गों, विशेष रूप से आज की पीढ़ी से, हमारा नम्रनिवेदन है कि इस स्थिति की भयानकता को समझें और दहेज-प्रथा रूपी इस लानत को जड़मूल से समाप्त करने की दिशा में कारगर क़दम उठायें तथा बेटे और बेटियों के बीच किये जाने वाले भेद-भाव को खत्म करने की दिशा में अपने प्रयत्न तब तक जारी रखे जब तक कि इस समस्या समूल नष्ट नहीं हो जाती.

शिखा


__________________
Shikha75.simplesite.com
Shikhashayari.blogspot.com

Last edited by rajnish manga; 17-06-2016 at 12:37 AM.
Shikha sanghvi is offline   Reply With Quote
The Following 2 Users Say Thank You to Shikha sanghvi For This Useful Post:
Pavitra (17-06-2016), soni pushpa (21-06-2016)
Old 16-06-2016, 06:11 PM   #2
Shikha sanghvi
Senior Member
 
Shikha sanghvi's Avatar
 
Join Date: Jan 2015
Posts: 289
Thanks: 214
Thanked 239 Times in 171 Posts
Rep Power: 15
Shikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud of
Default Re: Dahejpratha

Rajnishji.....kuch galtiya huyi hai typing mai jise thik kaise kare ye nahi samj aa raha plz aap help kare ...or galtiyo ko thik karde.
__________________
Shikha75.simplesite.com
Shikhashayari.blogspot.com
Shikha sanghvi is offline   Reply With Quote
The Following User Says Thank You to Shikha sanghvi For This Useful Post:
rajnish manga (17-06-2016)
Old 17-06-2016, 12:49 AM   #3
rajnish manga
Super Moderator
 
rajnish manga's Avatar
 
Join Date: Aug 2012
Location: Faridabad, Haryana, India
Posts: 12,375
Thanks: 4,753
Thanked 4,235 Times in 3,291 Posts
Rep Power: 227
rajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond reputerajnish manga has a reputation beyond repute
Default Re: Dahejpratha

शिखा जी, सबसे पहले तो मैं आपको दहेज-प्रथा रूपी कुरीति के बारे में अपने विचार इतने संतुलित लेकिन जोदार तरीके से रखने के लिये आपको धन्यवाद देता हूँ. यह हम सभी की सामूहिक ज़िम्मेदारी बनती है कि इस दिशा में missionary भावना से काम करते हुये अपने समाज को इस समस्या से निजात दिलायें. बहुत बहुत धन्यवाद.

आपके कहे अनुसार आलेख में टाइप की त्रुटियों को दूर कर दिया गया है. कई स्थानों पर आवश्यकतानुसार कुछ शब्द या वाक्यांश जोड़े गए हैं.

__________________
आ नो भद्रा: क्रतवो यन्तु विश्वतः (ऋग्वेद)
(Let noble thoughts come to us from every side)
rajnish manga is offline   Reply With Quote
The Following User Says Thank You to rajnish manga For This Useful Post:
Shikha sanghvi (17-06-2016)
Old 17-06-2016, 02:28 AM   #4
Shikha sanghvi
Senior Member
 
Shikha sanghvi's Avatar
 
Join Date: Jan 2015
Posts: 289
Thanks: 214
Thanked 239 Times in 171 Posts
Rep Power: 15
Shikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud ofShikha sanghvi has much to be proud of
Default Re: Dahejpratha

Quote:
Originally Posted by rajnish manga View Post
शिखा जी, सबसे पहले तो मैं आपको दहेज-प्रथा रूपी कुरीति के बारे में अपने विचार इतने संतुलित लेकिन जोदार तरीके से रखने के लिये आपको धन्यवाद देता हूँ. यह हम सभी की सामूहिक ज़िम्मेदारी बनती है कि इस दिशा में missionary भावना से काम करते हुये अपने समाज को इस समस्या से निजात दिलायें. बहुत बहुत धन्यवाद.

आपके कहे अनुसार आलेख में टाइप की त्रुटियों को दूर कर दिया गया है. कई स्थानों पर आवश्यकतानुसार कुछ शब्द या वाक्यांश जोड़े गए हैं.


Bahot Bahot shukriya rajnishji
Hume pata tha ki Bahot galtiya thi par use sahi kaise Kare vo samaj nahi aaya us waqt...isiliye humne aapko gujarish ki. Ye dahej ek aisi kupratha hai Jiske chalte is duniya Mai Kai logo ka jeena mushkil ho Gaya hai Jisse Hume bhi Bahot taklif hoti hai.
__________________
Shikha75.simplesite.com
Shikhashayari.blogspot.com
Shikha sanghvi is offline   Reply With Quote
The Following User Says Thank You to Shikha sanghvi For This Useful Post:
rajnish manga (17-06-2016)
Old 17-06-2016, 05:54 PM   #5
Pavitra
Moderator
 
Pavitra's Avatar
 
Join Date: Sep 2014
Location: UP
Posts: 618
Thanks: 400
Thanked 431 Times in 274 Posts
Rep Power: 25
Pavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond reputePavitra has a reputation beyond repute
Default Re: Dahej Pratha / दहेज-प्रथा

आजकल लोग दहेज को अपनी प्रतिष्ठा से जोड कर देखने लगे हैं , यानि जिसे जितना अधिक दहेज मिला उसकी उतनी ही ज्यादा हैसियत समझी जाती है । लोग सोचते हैं कि यदि वे धनवान हैं या उनका बेटा बहुत ऊँचे ओहदे पर है तो उन्हें ज्यादा दहेज मिलना चहिये , कई लोग तो दहेज को अपनी मजबूरी भी बता कर खुद की वकालत करते हैं जैसे- हमने अपने बेटे की पढाई पर बहुत खर्चा किया है , उसको प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में या बहुत बडे संस्थान/विदेश से पढाने में ्हमारा बहुत खर्चा हुआ है इसलिये बस हम कुछ सहायता लडकी के घरवालों से चाहते हैं..... दरअसल वे ये नहीं समझते कि यदि वास्तव में ही वे बहुत सक्षम हैं तब तो उन्हें बिल्कुल भी दहेज नहीं लेना चाहिये क्योंकि लेने वाला हमेशा छोटा होता है , दिया उसी को जाता है जो इस काबिल नहीं कि खुद अपने बूते अपने लिये चीजें खरीद सके या कमा सके।

वास्तव में देखा जाये तो दहेज प्रथा में वर पक्ष से ज्यादा गलती वधू पक्ष की होती है । लोग एक तो अपनी बेटियों को बोझ समझते हैं , ज्यादा शिक्षित नहीं करते और जब उन्हें कोइ उच्च पदस्थ या धनवान लड्का मिलता है तो वे चाहते हैं कि किसी भी तरह उनकी बेटी की शादी उससे करवा दी जाये और इसके लिये वे कोई भी कीमत अदा करने को तैयार होते हैं । फिर शुरु होता है अधिक बोली लगाने का दुश्चक्र ,जिस प्रकार से एक सेल्स मैन अपना सामन बेचता है तरह तरह के आकर्षक प्रलोभन देकर उसी प्रकार वर पक्ष को भी तरह तरह के प्रलोभन दिये जाते हैं । अब जिस व्यक्ति के पास इतने अधिक विकल्प होंगे वो भी आकर्षक प्रलोभनों के साथ तो जाहिर है वह खुद को राजा से कम तो नहीं ही समझेगा ।

यदि वधू पक्ष के लोग अपने में सुधार लायें तो निश्चित ही इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है , यदि लडकियों को शिक्षित किया जाये , और आत्मनिर्भर बनाया जाये तो उनमें व उनके परिवार में आत्मविश्वास जाग्रत होगा और उन्हें किसी के आगे गिडगिडाने और प्रलोभन देने की आवश्यकता कभी नहीं पडेगी ।
__________________
It's Nice to be Important but It's more Important to be Nice
Pavitra is offline   Reply With Quote
The Following 2 Users Say Thank You to Pavitra For This Useful Post:
rajnish manga (17-06-2016), Shikha sanghvi (21-06-2016)
Old 21-06-2016, 02:06 PM   #6
soni pushpa
Diligent Member
 
Join Date: May 2014
Location: east africa
Posts: 1,258
Thanks: 1,379
Thanked 1,053 Times in 755 Posts
Rep Power: 57
soni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond reputesoni pushpa has a reputation beyond repute
Default Re: Dahej Pratha / दहेज-प्रथा

sundar satik aalekh shikha ji .. atm samman ki ahmiyat dhan ke aage kam ho gai hai .. or sabse badi bat lalach insaan se kya nahi karwati? muft me dhanwan ban jane ki bhavna rakhne wale log dusaro ki mushkile nahi samj sakte ..
soni pushpa is offline   Reply With Quote
The Following 2 Users Say Thank You to soni pushpa For This Useful Post:
rajnish manga (21-06-2016), Shikha sanghvi (21-06-2016)
Reply

Bookmarks

Tags
blog

Thread Tools
Display Modes

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off



All times are GMT +5.5. The time now is 07:20 AM.


Powered by: vBulletin
Copyright ©2000 - 2017, Jelsoft Enterprises Ltd.
MyHindiForum.com is not responsible for the views and opinion of the posters. The posters and only posters shall be liable for any copyright infringement.