My Hindi Forum

Go Back   My Hindi Forum > Hindi Forum > Member's Area

Reply
 
Thread Tools Display Modes
Old 30-10-2010, 09:46 AM   #11
ABHAY
Exclusive Member
 
ABHAY's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: Forum
Posts: 6,249
Thanks: 1,249
Thanked 551 Times in 444 Posts
Rep Power: 27
ABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud of
Post

पंजाब में जन्मे स्वामी रामतीर्थ का जन्म व महाप्रयाण दोनों दीपावली के दिन ही हुआ। इन्होंने दीपावली के दिन गंगातट पर स्नान करते समय 'ओम' कहते हुए समाधि ले ली। महर्षि दयानन्द ने भारतीय संस्कृति के महान जननायक बनकर दीपावली के दिन अजमेर के निकट अवसान लिया। इन्होंने आर्य समाज की स्थापना की। दीन-ए-इलाही के प्रवर्तक मुगल सम्राट अकबर के शासनकाल में दौलतखाने के सामने ४० गज ऊँचे बाँस पर एक बड़ा आकाशदीप दीपावली के दिन लटकाया जाता था। बादशाह जहाँगीर भी दीपावली धूमधाम से मनाते थे। मुगल वंश के अंतिम सम्राट बहादुर शाह जफर दीपावली को त्योहार के रूप में मनाते थे और इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रमों में वे भाग लेते थे। शाह आलम द्वितीय के समय में समूचे शाही महल को दीपों से सजाया जाता था एवं लालकिले में आयोजित कार्यक्रमों में हिन्दू-मुसलमान दोनों भाग लेते थे।
__________________
पकरो ये मुझे मार कर भाग रहा है हा हा ! किसने मारा होगा
ABHAY is offline   Reply With Quote
Old 30-10-2010, 09:50 AM   #12
ABHAY
Exclusive Member
 
ABHAY's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: Forum
Posts: 6,249
Thanks: 1,249
Thanked 551 Times in 444 Posts
Rep Power: 27
ABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud of
Post

पर्वों का समूह दीपावली
दीपावली के दिन भारत में विभिन्न स्थानों पर मेले लगते हैं। दीपावली एक दिन का पर्व नहीं अपितु पर्वों का समूह है। दशहरे के पश्चात ही दीपावली की तैयारियाँ आरंभ हो जाती है। लोग नए-नए वस्त्र सिलवाते हैं। दीपावली से दो दिन पूर्व धनतेरस का त्योहार आता है। इस दिन बाज़ारों में चारों तरफ़ जनसमूह उमड़ पड़ता है। बरतनों की दुकानों पर विशेष साज-सज्जा व भीड़ दिखाई देती है। धनतेरस के दिन बरतन खरीदना शुभ माना जाता है अतैव प्रत्येक परिवार अपनी-अपनी आवश्यकता अनुसार कुछ न कुछ खरीदारी करता है। इस दिन तुलसी या घर के द्वार पर एक दीपक जलाया जाता है। इससे अगले दिन नरक चतुर्दशी या छोटी दीपावली होती है। इस दिन यम पूजा हेतु दीपक जलाए जाते हैं। अगले दिन दीपावली आती है। इस दिन घरों में सुबह से ही तरह-तरह के पकवान बनाए जाते हैं। बाज़ारों में खील-बताशे , मिठाइयाँ ,खांड़ के खिलौने, लक्ष्मी-गणेश आदि की मूर्तियाँ बिकने लगती हैं । स्थान-स्थान पर आतिशबाजी और पटाखों की दूकानें सजी होती हैं। सुबह से ही लोग रिश्तेदारों, मित्रों, सगे-संबंधियों के घर मिठाइयाँ व उपहार बाँटने लगते हैं। दीपावली की शाम लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा की जाती है। पूजा के बाद लोग अपने-अपने घरों के बाहर दीपक व मोमबत्तियाँ जलाकर रखते हैं। चारों ओर चमकते दीपक अत्यंत सुंदर दिखाई देते हैं। रंग-बिरंगे बिजली के बल्बों से बाज़ार व गलियाँ जगमगा उठते हैं। बच्चे तरह-तरह के पटाखों व आतिशबाज़ियों का आनंद लेते हैं। रंग-बिरंगी फुलझड़ियाँ, आतिशबाज़ियाँ व अनारों के जलने का आनंद प्रत्येक आयु के लोग लेते हैं। देर रात तक कार्तिक की अँधेरी रात पूर्णिमा से भी से भी अधिक प्रकाशयुक्त दिखाई पड़ती है। दीपावली से अगले दिन गोवर्धन पर्वत अपनी अँगुली पर उठाकर इंद्र के कोप से डूबते ब्रजवासियों को बनाया था। इसी दिन लोग अपने गाय-बैलों को सजाते हैं तथा गोबर का पर्वत बनाकर पूजा करते हैं। अगले दिन भाई दूज का पर्व होता है। दीपावली के दूसरे दिन व्यापारी अपने पुराने बहीखाते बदल देते हैं। वे दूकानों पर लक्ष्मी पूजन करते हैं। उनका मानना है कि ऐसा करने से धन की देवी लक्ष्मी की उन पर विशेष अनुकंपा रहेगी। कृषक वर्ग के लिये इस पर्व का विशेष महत्त्व है। खरीफ़ की फसल पक कर तैयार हो जाने से कृषकों के खलिहान समृद्ध हो जाते हैं। कृषक समाज अपनी समृद्धि का यह पर्व उल्लासपूर्वक मनाता हैं।
रंगोली
Attached Images
This post has an attachment which you could see if you were registered. Registering is quick and easy
__________________
पकरो ये मुझे मार कर भाग रहा है हा हा ! किसने मारा होगा
ABHAY is offline   Reply With Quote
Old 30-10-2010, 09:57 AM   #13
ABHAY
Exclusive Member
 
ABHAY's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: Forum
Posts: 6,249
Thanks: 1,249
Thanked 551 Times in 444 Posts
Rep Power: 27
ABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud ofABHAY has much to be proud of
Post

परंपरा
अंधकार पर प्रकाश की विजय का यह पर्व समाज में उल्लास, भाई-चारे व प्रेम का संदेश फैलाता है। यह पर्व सामूहिक व व्यक्तिगत दोनों तरह से मनाए जाने वाला ऐसा विशिष्ट पर्व है जो धार्मिक, सांस्कृतिक व सामाजिक विशिष्टता रखता है। हर प्रांत या क्षेत्र में दीवाली मनाने के कारण एवं तरीके अलग हैं पर सभी जगह कई पीढ़ियों से यह त्योहार चला आ रहा है। लोगों में दीवाली की बहुत उमंग होती है। लोग अपने घरों का कोना-कोना साफ़ करते हैं, नये कपड़े पहनते हैं। मिठाइयों के उपहार एक दूसरे को बाँटते हैं, एक दूसरे से मिलते हैं। घर-घर में सुन्दर रंगोली बनायी जाती है, दिये जलाए जाते हैं और आतिशबाजी की जाती है। बड़े छोटे सभी इस त्योहार में भाग लेते हैं। अंधकार पर प्रकाश की विजय का यह पर्व समाज में उल्लास, भाई-चारे व प्रेम का संदेश फैलाता है। हर प्रांत या क्षेत्र में दीवाली मनाने के कारण एवं तरीके अलग हैं पर सभी जगह कई पीढ़ियों से यह त्योहार चला आ रहा है। लोगों में दीवाली की बहुत उमंग होती है।
__________________
पकरो ये मुझे मार कर भाग रहा है हा हा ! किसने मारा होगा
ABHAY is offline   Reply With Quote
Old 30-10-2010, 08:33 PM   #14
calvitf
Member
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 40
Thanks: 0
Thanked 0 Times in 0 Posts
Rep Power: 0
calvitf is on a distinguished road
Default

साभी मित्रो हमारी ओर से दिपावली की शुभकामनाएँ
Attached Images
This post has an attachment which you could see if you were registered. Registering is quick and easy
calvitf is offline   Reply With Quote
Old 04-11-2010, 01:53 AM   #15
sam_shp
Senior Member
 
sam_shp's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 516
Thanks: 15
Thanked 110 Times in 73 Posts
Rep Power: 9
sam_shp is a jewel in the roughsam_shp is a jewel in the roughsam_shp is a jewel in the rough
Default

सभी मित्रो को हमारी तरफ से दीपावली की ढेर सारी शुभ कामनाये....




Attached Images
This post has an attachment which you could see if you were registered. Registering is quick and easy
sam_shp is offline   Reply With Quote
Old 04-11-2010, 09:59 AM   #16
Sikandar_Khan
VIP Member
 
Sikandar_Khan's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: kanpur-(up)
Posts: 14,034
Thanks: 749
Thanked 1,476 Times in 1,164 Posts
Rep Power: 61
Sikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond reputeSikandar_Khan has a reputation beyond repute
Send a message via Yahoo to Sikandar_Khan
Default शुभ दीपावली

फोरम को सभी सदस्योँ को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं
__________________
Disclaimer......! "फोरम पर मेरे द्वारा दी गयी सभी प्रविष्टियों में मेरे निजी विचार नहीं हैं.....! ये सब कॉपी पेस्ट का कमाल है..."

click me
Sikandar_Khan is offline   Reply With Quote
Old 04-11-2010, 01:27 PM   #17
jalwa
Diligent Member
 
jalwa's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: चांदनी चौक
Posts: 812
Thanks: 44
Thanked 94 Times in 70 Posts
Rep Power: 9
jalwa is a jewel in the roughjalwa is a jewel in the roughjalwa is a jewel in the rough
Default

सोनी जी, अभय जी, हमसफ़र जी, राजेश जी,सिकंदर जी,कैल्विट-ऍफ़ जी, और शाम भाई जी को सूत्र में महत्त्व पूर्ण योगदान के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.
अभिसेज .कॉम के सभी दर्शकों और सदस्यों को हमारी तरफ से " अन्धकार पर रौशनी की जीत " यानी की "दीपावली" की हार्दिक शुभकामनाएं. ईश्वर करे आप सभी के जीवन में सदैव खुशियाँ ही रहें.


__________________

अच्छा वक्ता बनना है तो अच्छे श्रोता बनो,
अच्छा लेखक बनना है तो अच्छे पाठक बनो,
अच्छा गुरू बनना है तो अच्छे शिष्य बनो,
अच्छा राजा बनना है तो अच्छा नागरिक बनो
jalwa is offline   Reply With Quote
Old 04-11-2010, 01:36 PM   #18
jeet
Senior Member
 
jeet's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: गरवी गुजरात
Posts: 398
Thanks: 11
Thanked 159 Times in 101 Posts
Rep Power: 15
jeet is a splendid one to beholdjeet is a splendid one to beholdjeet is a splendid one to beholdjeet is a splendid one to beholdjeet is a splendid one to beholdjeet is a splendid one to beholdjeet is a splendid one to behold
Default

सभी दोस्तो को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं .................





Attached Images
This post has an attachment which you could see if you were registered. Registering is quick and easy
__________________
कुछ खास है
jeet is offline   Reply With Quote
Old 04-11-2010, 03:33 PM   #19
jalwa
Diligent Member
 
jalwa's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: चांदनी चौक
Posts: 812
Thanks: 44
Thanked 94 Times in 70 Posts
Rep Power: 9
jalwa is a jewel in the roughjalwa is a jewel in the roughjalwa is a jewel in the rough
Default

जीत भाई, आपका बहुत बहुत आभार. आपको भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं.

Attached Images
This post has an attachment which you could see if you were registered. Registering is quick and easy
__________________

अच्छा वक्ता बनना है तो अच्छे श्रोता बनो,
अच्छा लेखक बनना है तो अच्छे पाठक बनो,
अच्छा गुरू बनना है तो अच्छे शिष्य बनो,
अच्छा राजा बनना है तो अच्छा नागरिक बनो
jalwa is offline   Reply With Quote
Old 04-11-2010, 10:10 PM   #20
TIGERLOVE
Member
 
TIGERLOVE's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Location: वादी-ऐ-इश्क
Posts: 143
Thanks: 26
Thanked 24 Times in 20 Posts
Rep Power: 7
TIGERLOVE is on a distinguished road
Default

!~! फोरम के सभी सदस्योँ को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं !~!
TIGERLOVE is offline   Reply With Quote
Reply

Bookmarks

Tags
शुभकामनाएं, festivals, good wishes

Thread Tools
Display Modes

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off



All times are GMT +5.5. The time now is 04:41 PM.


Powered by: vBulletin
Copyright ©2000 - 2017, Jelsoft Enterprises Ltd.
MyHindiForum.com is not responsible for the views and opinion of the posters. The posters and only posters shall be liable for any copyright infringement.